add image
add image

75 किलो वाले ट्रॉली में कुछ कपड़ों के साथ यह इंसान निकला है लगाने गुहार

news-details

राजनितिक रूप से EVM को बेन करने का तो विरोध चल ही रहा है लेकिन राजनितिक रूप से हटकर बात करे तो ऐसे खबर बहुत काम ही आते है। लेकिन आज हम जिसके बारे में बताने जा रहे है वह कोई नेता या किसी पार्टी से नहीं है लेकिन उन्होंने EVM को बेन करने के लिए एक ऐसा रास्ता अपनाया है जिसको देख कर 1947 से पहले यानि आज़ादी से पहले की संरंचना जहन में याद आती है। दरअसल उत्तराखंड के एक 41 वर्षीय शख्स ने ईवीएम पर प्रतिबंध लगाने और चुनावों में मतपत्रों को वापस लेने की मांग कर रहे है। बता दे कि उनकी यह मांग देशव्यापी पदयात्रा द्वारा किया जा रहा है। उत्तराखंड में रुद्रपुर के रियल इस्टेट कारोबारी ओंकार सिंह ढिल्लों अपनी पदयात्रा में करीब 4,500 किलोमीटर चल चुके है। उनका उद्देश्य करीब 6,500 किलोमीटर की यात्रा करने के बाद नयी दिल्ली के राजघाट में अपनी पदयात्रा को विराम देने वाले है।

दरअसल बीजेपी ने पिछले साल मई में हुए लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत हासिल की। वहीँ नतीजों के दौरान EVM में धांधली और छेड़छाड़ के कई आरोप लगे। जिसके बाद से एक तबके के लोग लगातार मांग कर रहे थे कि चुनाव बैलेट पेपर के जरिए ही कराए जाएं। जिसके बाद देश के एक मातृभक्त ने इसे गंभीरता से लिया और वह अब एक मिशन पर निकल पड़े। 75 किलो वाले ट्रॉली में कुछ कपड़ों के साथ यह इंसान EVM को बैन कराने के लिए सड़कों पर पैदल निकल पड़े। 18 अगस्त को रुप्रपुर की अपनी दुकान बंद कर ओंकार करीब 100 दिनों से पद यात्रा पर हैं।

वहीँ ढिल्लों का कहना है कि ईवीएम पर प्रतिबंध लगना चाहिए। सत्तारूढ़ दल सत्ता में आने के लिए ईवीएम से छेड़छाड़ कर सकते हैं जो देश और उसके लोगों के लिए अच्छा नहीं है। कई देशों में यहां तक कि विकसित देशों में ईवीएम का चुनावों में इस्तेमाल नहीं किया जाता। ईवीएम का मैन्युअल, रिमोट और ऑनसाइट तरीके से दुरुपयोग किया जा सकता है। जोकि हमारे लोकतंत्र के लिए खतरनाक है। लिहाज़ा सभी को सड़कों पर उतरना चाहिए और इसका विरोध करना चाहिए। साथ ही 'बैक टू बैलेट' की पैरवी करनी चाहिए।

बता दे कि ढिल्लो पिछले साल 18 अगस्त को उत्तराखंड के रुद्रपुर से अपनी पदयात्रा शुरू की थी। वह अब तक यूपी, हरियाणा, राजस्थान, एमपी, गुजरात, महाराष्ट्र होते हुए हाल ही में कर्नाटक तक पहुंच चुके है।

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...