add image
add image

हिंदू राष्ट्र की परिकल्पना असुरक्षा से उत्पन्न कल्पना की उड़ान है: असदुद्दीन ओवैसी

news-details

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के हिंदू राष्ट्र पर दिए बयान को लेकर असदुद्दीन ओवैसी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. ओवैसी ने कहा कि हिंदू राष्ट्र का विचार हिंदू वर्चस्व पर आधारित है. इसका मतलब है जो भी हिंदू नहीं है, उसे वश में करना है. अल्पसंख्यकों को केवल भारत में रहने की अनुमति दी जाएगी. संविधान के अनुसार हम इंडिया यानी भारत हैं. हिंदू राष्ट्र की परिकल्पना असुरक्षा से उत्पन्न कल्पना की उड़ान है.

 

असदुद्दीन ओवैसी ने इसके बाद मॉब लिंचिंग पर दिए मोहन भागवत के बयान पर भी निशाना साधते हुए कहा कि जिस विचारधारा ने महात्मा गांधी और तबरेज की हत्या की, उससे ज्यादा भारत की बदनामी नहीं हो सकती. ओवैसी ने कहा, 'मोहन भागवत लिंचिंग की घटनाओं पर रोक लगाने की बात नहीं कह रहे हैं, बल्कि वो ये कह रहे हैं कि इसे लिंचिंग न कहा जाए.'

दरअसल विजयदशमी के मौके पर अपने कार्यक्रम के दैरान संबोधित करते हुए भागवत ने कहा कि मॉब लिंचिंग देश को बदनाम करने के लिए भारत के संदर्भ में इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए. इसके अलावा विजयदशमी के मौके पर नागपुर में आयोजित कार्यक्रम में भागवत ने भारत को हिंदू राष्ट्र बताया. कार्यक्रम में भागवत ने कहा, 'संघ अपने इस नजरिए पर अडिग है कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है. राष्ट्र के वैभव और शांति के लिए काम कर रहे सभी भारतीय हिंदू हैं.

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...