#लोकसभा चुनाव 2019
चुनावी फैक्ट्स
×

लोक सभा चुनाव 2019

add image
add image
add image

राफेल की चोरी में चौकीदार ही चोर है सुप्रीम कोर्ट ने कहा- बच नहीं पायेंगे मोदी : कांग्रेस

news-details

लोकसभा चुनाव के दरमियान राजनीतिक उठापटक तेज हो गई है. आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. इसी कड़ी में कांग्रेस लगातार बीजेपी को राफेल के मुद्दे पर घेरने के प्रयास में जूटी है. कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट के जरिए पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा है कि “मोदी जी की झूठ का किला धवस्त हो गया है.

बार-बार मोदी जी सुप्रीम कोर्ट के निर्णय की दुहाई दे ‘क्लीनचीट’ की झूठ का आवरण ओढ़ लेते थे. राफेल के एक भ्रष्टाचार की झूठ छिपाने के लिए चोर चौकीदार ने सौ झूठ बोली, पर आखिर में सच्चाई बाहर आ ही गई कि रोफेल की चोरी में चौकीदार ही चोर है.”

आपको बता दें, कांग्रेस ने आज एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए राफेल के मुद्दे पर सच्चाई लाने का दावा कर रही है. इस प्रेस रिलीज़ का शीर्षक है- पकड़ी गई राफेल की चोरी मोदी जी की सिनाजोरी

इस विज्ञप्ति के अनुसार, कांग्रेस ने पीएम मोदी पर कई गंभीर आरोप लगाये है.

1.     पहले सुप्रीम कोर्ट को बरगलाया कि CAG रिपोर्ट ने मोदी सरकार को क्लीन चीट दे दी है. लेकिन बाद में पता चला कि CAG की रिपोर्ट तो बनी ही नहीं थी ना ही संसद में कभी पेश हुई. सीधे-सीधे सुप्रीम कोर्ट की आंखों में धूल झोंकी.

2.     राष्ट्रीय सुरक्षा की दुहाई देकर सुप्रीम कोर्ट को राफेल की कीमत बताने से इंकार कर दिया ताकि यह सामने न आ सके की 526 करोड़ का राफेल 1600 करोड़ में खरीदकर देश को चूना क्यों लगाया.

3.     सुप्रीम कोर्ट को यह भी नहीं बताया कि जहाज खरीद की कीमत के लिए बनाये गए Indian Negotiation Team को दरकिनार कर प्रधानमंत्री कार्यालय सीधे मोलभाव कर रहा था.

4.     सुप्रीम कोर्ट से यह भी छिपाया गया कि राष्ट्रहित त्यागकर व राफेल जहाज बनाने वाली कंपनी डसॉल्ट  एविएशन को फायदा पहुंताने के लिए मोदी जी ने इंडियन नेगोसिएशन टीम/रक्षा या कानून मंत्रालय के ऐतराजात को दरकिनार कर राष्ट्रहित में बैंक गारंटी की शर्त को खारिज कर दिया.

5.     सुप्रीम कोर्ट से यह भी छिपाया कि राफेल जहाज में लगने वाली India Specific Enhancements  के लिए मोदी सरकार ने 208 करोड़ प्रति जहाज देने का निर्णय कर लिया.

6.     सुप्रीम कोर्ट से यह भी छुपाया गया कि मोदी सरकार ने गुपचूप तरीके से राफेल खरीद सौदे में बिचौलिए न होने भ्रष्टाचार पाये जाने पर कंपनी को सजा देने की शर्तों को खारिच कर दिया.

7.     सुप्रीम कोर्ट से यह भी छुपाया गया कि इंडियन नेगोसिएशन टीम के तीन टेक्नीकल सदस्यों के मुताबिक, राफेल जहाज आने में 10 साल लगेंगे. क्योंकि राफेल जहाज बनाने वाली कंपनी के पास राफेल जहाज बनाने का Backlog order  पहले से ही है.

कांग्रेस क अनुसार, इसका सार यह है कि जब इंडियन नेगोसिएशन टीम के सारे कागजात अख़बार के सामने आ गए तो मोदी जी ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट का हवाला देकर पत्रकारों को ही जेल भेजने की धमकी दे डाली.आज सच्चाई बाहर आ गई,

जब सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा मोदी जी अपने भ्रष्टाचार के सबूतों को ऑफिशियल सिक्रेट्स एक्ट का हवाला दे नहीं छिप सकते औऱ न ही खुद को बचा सकते.

कांग्रेस ने लिखा- चौकीदार की चोरी के सबूत सामने हैं. अब जाँच भई होगी और चौकीदार औऱ उसके दोस्तों को सजा भी मिलेगी.

और आखिर में कांग्रेस ने लिखा- सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से आज फिर न्याय की जीत हुई. अब होगा न्याय.

 

 

 

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...