Surya Samachar
add image

अमेरिका के राष्ट्रपति पर न्याय विभाग की छापेमारी, यह बताया जा रहा है कारण...

news-details

वॉशिंगटन: भारत वैसे तो लोकतान्त्रिक देश है लेकिन यहां के कुछ नियम के मुकाबले अमेरिका की बात करें तो अलग दीखते हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के घर पर न्याय विभाग ने छापेमारी की है। विभाग ने यहां से कुछ दस्ताबेज भी अपनी कस्टीडी में लिए हैं।

13 घंटे से जारी है छापेमारी

शुक्रवार यानी 20 जनवरी को 6 और खुफिया फाइलें मिली हैं। अमेरिकी जस्टिस डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने लगभग 13 घंटे की जांच के बाद इन फाइलों को जब्त किया। जब बाइडेन के घर की तलाशी ली जा रही थी, उस समय बाइडेन या उनकी पत्नी घर पर नहीं थे।

पुराना बताया जा रहा है मामला

जब बाइडेन सीनेटर हुआ करते थे। वहीं कुछ तब की हैं, जब 8साल पहले वो उप-राष्ट्रपति थे। दोबारा तलाशी के एक दिन पहले ही यानी 19जनवरी को बाइडेन ने कहा था कि उन्हें फाइलें मिलने का कोई अफसोस नहीं है। उनके इस बयान पर रिपब्लिकन पार्टी ने उनकी कड़ी आलोचना की थी

कुछ नोट्स भी हुए बरामद

बाइडेन के घर में सुबह 9 बजकर 45 मिनट से रात 10 बजकर 30 मिनट तक तलाशी ली गई थी। इस समय दोनों पक्षों की लीगल टीम और व्हाइट हाउस का एक अधिकारी भी मौजूद रहा था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, तलाशी के दौरान बाइडेन के लिविंग रूम से लेकर गैराज तक पूरा घर खंगाला गया था। तलाशी में खुफिया फाइलों के अलावा कुछ हाथ से लिखे नोट्स भी बरामद किये गए हैं।

 

कई अन्य स्थानों पर भी हुई तलाशी

 

वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक शुक्रवार को फिर से बाइडेन के घर पर हुई जांच का मतलब है कि वो जल्द से जल्द इस मामले को सुलझा लेना चाहते हैं। वहीं बीबीसी के मुताबिक, बाइ़डेन के घर से शुक्रवार को मिली फाइलों में हैरान करने वाली बात ये है कि इसी जगह जब जनवरी की शुरूआत में तलाशी ली गई थी तो वहां से कुछ नहीं मिला था।

You can share this post!