add image
add image

मुझे हटाकर मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं सिद्धू : अमरिन्दर सिंह

news-details

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और राज्य के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। लोकसभा चुनाव 2019में टिकट न मिलने पर सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने कैप्टन के खिलाफ खुलकर नाराजगी जताई थी। इसका सिद्धू ने भी समर्थन किया था। इस बीच सीएम अमरिंदर ने सिद्धू को महत्वाकांक्षी बताते हुए कहा कि उन्हें लगता है कि शायद सिद्धू की ख्वाहिश मुख्यमंत्री बनने की है। 

पंजाब की 13लोकसभा सीटों पर सातवें चरण के तहत वोटिंग हो रही है। सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पटियाला के पोलिंग बूथ नंबर 89पर अपना वोट डाला। मतदान के बाद नवजोत सिद्धू का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, 'नवजोत सिंह सिद्धू के साथ मेरी कोई जुबानी जंग नहीं है। अगर वह महत्वाकांक्षी हैं तो इसमें कुछ गलत नहीं है। लोगों की महत्वाकांक्षाएं होती हैं। मैं उन्हें बचपन से जानता हूं। मेरा उनके साथ कोई वैचारिक मतभेद नहीं है। वह शायद मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं और मुझे हटाना चाहते हैं। उनकी दिक्कत यह है।'

अमरिंदर ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत की उम्मीद जताते हुए कहा, 'राज्य में आम तौर पर शांतिपूर्ण तरीके से मतदान हो रहा है। तरनतारन में हत्या की एक घटना सामने आई है लेकिन पुलिस की शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक यह निजी रंजिश का मामला था। कानून-व्यवस्था की स्थिति शांतिपूर्ण है। चुनाव में हम बीजेपी और अकाली दल दोनों को शिकस्त देंगे।'

नवजोत कौर ने आरोप लगाया था कि उन्हें अमरिंदर सिंह की वजह से अमृतसर से लोकसभा टिकट नहीं मिला। उन्होंने कहा था कि अमरिंदर सिंह और पार्टी महासचिव पंजाब प्रभारी आशा सिंह ने पुख्ता इंतजाम किया था कि उन्हें अमृतसर सीट से टिकट न मिले। नवजोत ने अमृतसर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा था, 'कैप्टन साहब और आशा कुमारी सोचती हैं कि मैडम सिद्धू संसदीय सीट का टिकट पाने की हकदार नहीं हैं। मुझे अमृतसर से टिकट इसलिए नहीं दिया गया कि मैं बीते साल अमृतसर में हुए दशहरा रेल हादसे से पैदा हुई नाराजगी की वजह से जीत नहीं पाऊंगी।'

 

 

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...