add image
add image

शक्तिकांत दास: अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के लिए घटाई रेपो रेट, MPC मिनट्स जारी

news-details

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बताया कि अर्थव्यवस्था में आ रही सुस्ती और निजी निवेश में चल रहे नरमी के सिलसिले को देखते हुए उसने रेपो रेट में कटौती करने का निर्णय किया था। इसी महीने की शुरुआत में मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक हुई थी, जिसके मिनट्स कल यानी शुक्रवार को पेश किए गए। RBI गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में केंद्रीय बैंक ने अपनी प्रमुख ब्याज दर (रेपो रेट) में 25 आधार अंकों (0.25 फीसदी) को घटाया था। इस वर्ष जनवरी से अब तक RBI ने रेपो रेट में पांचवीं बार कटौती की थी। 
 
चालू वर्ष में RBI रेपो रेट में 135 आधार अंकों (1.35 फीसदी) की कटौती कर चुका है। मिनट्स के अनुसार, दास ने बैठक में कहा कि घरेलू मांग और निजी खपत में कमी दर्ज की गयी है। इस कारण से कुल मांग में गिरावट हुई है। यह निश्चित तौर पर चिंता का विषय है। बैठक में दास ने घटते निजी निवेश और कॉरपोरेट सेक्टर की हिचक को लेकर भी चिंता जताई थी। हालांकि, हाल के समय में मैन्युफैक्चिरिंग के क्षेत्र में क्षमता का लगभग औसत प्रयोग हुआ है।
 
शक्तिकांत ने कहा कि इकोनॉमी को रफ़्तार देने के लिए सरकार ने भी हाल में कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। इस समय इकोनॉमी को गति देने के लिए हर तरह से प्रयास किए जाने की जरूरत है। आरबीआई गवर्नर ने रेपो रेट को लेकर अपना मत जाहिर करते हुए कहा था कि बीते कुछ समय में मंहगाई भी निर्धारित लक्ष्य के अंदर ही रही है, इसलिए मैं रेपो रेट घटाने के विचार पर सहमत हूं। इसके बाद MPC के सभी छह सदस्यों ने रेपो रेट को 0.25 फीसदी कम करने को लेकर सहमति जताई।

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...