add image
add image

आरटीआई कार्यकर्ता अमित हत्याकांड में भाजपा के पूर्व सांसद दीनू बोघा सहित सात को उम्रकैद की सजा

news-details

 आरटीआई कार्यकर्ता अमित जेठवा की हत्या के मामले में अहमदाबाद सीबीआई कोर्ट ने गुरूवार को भाजपा के पूर्व सांसद दीनू सोलंकी सहित सात अभियुक्तों को उम्रकैद की सजा सुनाई इसके साथ ही दीनू बोघा और उसके भतीजे शिवा सोलंकी पर 15 - 15 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है. इससे पहले अहमदाबाद के सीबीआई कोर्ट ने शनिवार को पूर्व सांसद सोलंकी सहित सभी सातों आरोपितों को हत्या और आपराधिक साजिश रचने का दोषी माना था.

आरटीआई कार्यकर्ता अमित जेठवा की 20 जुलाई, 2010 को गुजरात उच्च न्यायालय के बाहर गोली मार दी गई थी.क्योकि अमित जेठवा गिर वन क्षेत्र में अवैध माइनिंग के खिलाफ आरटीआई लगा रहे थे.इस हत्या के बाद गुजरात पुलिस ने जांच में कहा था कि दीनू सोलंकी का इस हत्या में कोई भूमिका नहीं है. बाद में आरटीआई कार्यकर्ता अमित जेठवा के पिता की याचिका पर हाईकोर्ट ने सीबीआई जांच के आदेश दिए थे.

साबीआई जांच मे दीनू सोलंकी सहित सभी सातों आरोपितों पर मई 2016 में हत्या और आपराधिक षड्यंत्र के आरोप तय हुए। इस मामले में सबसे पहले शार्प शूटर शैलेश पांड्या और उसके एक साथी को पकड़ा गया था। बाद में छह नवंबर. 2013 को दीनू सोलंकी और उसके भतीजे शिवा को भी इस मामले में गिरफ्तार कर लिया गया।

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...