add image
add image

राहुल ने ट्वीटर के जरिए किया अपील,कहा- देश के लिए हिंसा ठीक नहीं

news-details

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान सत्ता पक्ष और विपक्षी पार्टियों के एक दूसरे पर हमले जारी है। इसी बीच राहुल गांधी के एक ट्वीट ने राजनीतिक हलचल तेज कर दी है। इसमें कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा है कि राजनीति में हिंसा और आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए क्योंकि यह देश के लिए खराब है।

राहुल ने साफ तौर पर किसी शख्स या पार्टी का नाम नहीं लिया, लेकिन इसे कांग्रेस के सीनियर नेता मणिशंकर अय्यर और बंगाल के बिगड़े हालात की तरफ इशारा माना जा रहा है।

राहुल ने ट्वीट किया, 'मैं चाहता हूं कि राजनीति में एक नई तरह की भाषा का इस्तेमाल हो। चलिए एक दूसरे से भयंकर लड़ाई करते हैं, लेकिन मुद्दों पर। भयंकर लड़ाई हो लेकिन विचारधारा पर। चलिए एक दूसरे के खिलाफ घृणा और हिंसा का इस्तेमाल हम बंद करते हैं। यह भारत के लिए ठीक नहीं।'

राहुल गांधी ने साफ तौर पर कुछ नहीं लिखा है, लेकिन इसे कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर से जोड़कर देखा जा रहा है। दरअसल, अय्यर ने 2017 में पीएम नरेंद्र मोदी के बारे में दिए गए अपने विवादित बयान 'नीच किस्म का आदमी' को सही ठहराते हुए अब एक लेख लिखा है। गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान अय्यर के दिए इस बयान पर काफी बवाल मचा था और बाद में कांग्रेस नेता को माफी मांगनी पड़ी थी। अब लेख से सफाई के बाद फिर से इसपर विवाद हो गया है।

लोकसभा चुनाव के लिए लगभग हर चरण की वोटिंग के दौरान बंगाल में हिंसा हुई है। किसी न किसी बात पर वहां तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कार्यकर्ता आमने-सामने रहे। इस दौरान कई जगह पत्थरबाजी की घटनाएं भी सामने आईं। कुछ कार्यकर्ताओं की तो हत्याएं तक हो गईं। राहुल द्वारा ट्वीट में हिंसा का जो जिक्र किया गया है वह बंगाल की तरफ इशारा हो सकता है।

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...