add image
add image

ATM और ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के नियम में RBI ने किया बड़ा बदलाव

news-details

RBI ने ग्राहकों के लिए एक नया नियम बनाया है यदि आप एटीएम से पैसा निकालने जाते हैं और इस दौरान खाते से पैसा कट जाता है, लेकिन एटीएम से पैसा बाहर नहीं आता तो इसके लिए आपको फ़िक्र करने की जरूरत नहीं है। या फिर अगर आप किसी के खाते में पैसा भेजते हैं और आपके खाते से पैसा कट जाता है, लेकिन सामने वाले के खाते में पैसा नहीं पहुंचता है तो भी आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने ग्राहकों की फेल्ड ट्रांजैक्शन की शिकयतों को ध्यान में रखते हुए टर्न अराउंड टाइम (TAT) एक निश्चित समयावधि तय की है। इस नियम के तहत अगर किसी ग्राहक का ट्रांजैक्शन फेल्ड हो जाता है तो बैंक एक निश्चित समयाव​धि में उसका समाधान करेंगे और अगर ऐसा नहीं होता है तो बैंक ग्राहकों को मुआवजा देंगे।
 
RBI ने लेनदेन को अलग-अलग आठ वर्गों में बांटा है, इनमें तत्काल भुगतान प्रणाली, यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस, एटीएम से लेनदेन, कार्ड लेनदेन और प्रीपेड कार्ड शामिल हैं। नए नियम के तहत ट्रांजैक्शन के बाद से 5 दिन में खाते में पैसा वापस लौटाना होगा। और अगर पैसा निश्चित समया में नहीं पहुंचता है तो ग्राहक को 100 रुपए रोजाना हर्जाना मिलेगा। जिन ग्राहकों की शिकायत का समाधान TAT के तहत नहीं होता है वे बैंकिंग लोकपाल को शिकायत दर्ज करा सकते हैं।
 
ATM से लेनदेन के नियम
 
यदि ATM ट्रांजैक्शन में खाते से पैसा कट जाता है, लेकिन कैश नहीं निकला तो ट्रांजैक्शन के बाद से 5 दिन में अकाउंट में पैसा लौटाना होगा और यदि 5 दिन से ज्यादा समय लगता है तो ग्राहक को रोज 100 रुपये के हिसाब उसे हर्जाना मिलेगा।
 
IMPS ट्रांजैक्शन के नियम
 
अकाउंट से पैसे कटे लेकिन रिसीवर के खाते में नहीं पहुंचे तो ट्रांजैक्शन के एक दिन बाद तक पैसा वापस करना होगा। पैसा वापस नहीं आने के मामले में दूसरे दिन से 100 रु हर्जाना देना होगा। 
 
कार्ड से कार्ड में ट्रांसफर करने पर 

यदि कार्ड से पैसा कट गया, लेकिन दूसरे कार्ड मे पैसा ट्रांसफर नहीं हुआ तो ऐसे केस में ट्रांजैक्शन के बाद अधिकतम 1 दिन में रिवर्सल ट्रांजैक्शन के बाद दूसरे दिन से 100 रुपए रोजाना हर्जाना लगेगा।
 
UPI से ट्रांजेक्शन के नियम
 
ग्राहक के खाते से पैसे कट जाने पर, लेकिन आपने जिसे भेजा उसके खाते में पैसा नहीं पहुंचने पर ट्रांजैक्शन के 1 दिन के भीतर रकम को वापस करना होगा। यदि बैंक ऐसा नहीं करता है तो दूसरे दिन से 100 रुपए रोज हर्जाना मिलेगा। वहीं अगर UPI से मर्चेंट पेमेंट पर खाते से पैसा कटा और मर्चेंट तक नहीं पहुंचा तो ट्रांजैक्शन के बाद से 5 दिन में अकाउंट में पैसा लौटाना होगा। अगर तय समय में ऑटो रिवर्सल नहीं मिला तो 100 रुपए रोजाना हर्जाना देना होगा।
 
PoS से लेनदेन करने पर नियम
 
मान लीजिये अकाउंट से पैसे कट गए, लेकिन मर्चेंट को रकम का कंफर्मेशन नहीं आया तो ट्रांजैक्शन के 5 दिन के अंदर कटे हुए पैसे को वापस करना होगा। नहीं तो ट्रांजैक्शन के बाद छठवें दिन से 100 रुपए रोजाना का ग्राहक को हर्जाना आधार पे से ट्रांजैक्शन पे देना होगा। 

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...