add image
add image

जानिए ग्लोबल आतंकी मसूद अजहर की कैसी रही जिंदगी, पूरा खानदान है आतंकवादी

news-details

पुलनामा हमले का साजिशकर्ता मसूद अजहर ग्लोबल आतंकी साबित कर उसपर बैन लगा दिया गया है.भारत की मोदी सरकार की इस मामले में बड़ी जीत हुई है.चलिए आज मसूद अजहर के बारे में कुछ ऐसी बात बताते हैं जो शायद हि आपको पता होगा -

कौन हैं मसूद अजहर ?

मोहम्मद मसूद अजहर अल्वी जिसे हम सब आतंकी मसूद अजहर के नाम से जानते हैं. इसका जन्म 10 जुलाई, 1968 को बहावलपुर में हुआ जो पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में स्थित है. पाकिस्तानी राष्ट्रीयता का ये आतंकी अपने माता पिता की तीसरी औलाद है.अजहर के पिता एक सरकारी स्कूल में हेडमास्टर थे. शिक्षा की बात की जाए तो मसूद 8वीं क्लास में ही शिक्षा से लग हो गया और जामिया उलूम इस्लामिक स्कूल में शामिल हो गया, जहां से उसने 1989 में एक आलिम के रूप में स्नातक किया और जल्द ही एक शिक्षक के रूप में नियुक्त हो गया. और बाद में वो हरकत-उल-अंसार का मुख्य सचिव बना और नई भर्तियां करने, चंदा इकट्ठा करने और इस्लाम का प्रचार-प्रसार करने के लिए देश-विदेश की यात्राएं करने लगा. 1994 में वह नकली पहचान से श्रीनगर में आया और वहीं उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

आतंकी है पूरा खानदान

मौलाना मसूद अजहर चार भाई है. मौलाना इब्राहिम, अब्दुल रऊफ असगर और तीसरे नंबर पर खुद मसूद अजहर है. चौथे नंबर पर तल्हा सैफ और सबसे छोटा भाई हम्माद अजहर है. पिछले साल अक्टूबर में भारतीय फौज ने दावा किया था कि मौलाना मसूद के सबसे बड़े भाई के बेटा मोहम्मद उस्मान को एनकाउंटर में मारा गया. वहीं मसूद का करीबी रिश्देतार तल्हा रशीद भी एंकाउंटर में मारा गया था. भारत मसूद अजहर और उसके भाई मुफ्ती अब्दुल रऊफ असगर के प्रत्यपण की मांग करता रहा है. पुलमामा घटना के बाद यह मांग फिर से दोहराई गई. लेकिन पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि मसूद अजहर इतना बीमार है कि वह बिस्तर से उठ भी नहीं सकता.

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...