Surya Samachar
add image
add image

कराची तट पर इमरान धूमधाम से निकले तेल ढूंढने, बैरंग लौटे

news-details

पाकिस्तान ने कराची तट क्षेत्र के समीप अरब सागर में खनिज तेल और गैस का बड़ा भंडार हासिल करने की उम्मीदों के साथ शुरू किया गया खुदाई का काम बंद कर दिया है। यह काम बड़े धूम-धाम से शुरू किया गया था लेकिन जो भी कुएं खोदे गए उनमें कोई खनिज ईंधन हासिल नहीं हुआ। प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस साल के शुरू में कहा था कि देश को कराची तट के निकट समुद्री इलाके में तेल विशाल स्रोत होने का पता चला है

उन्होंने कहा था, 'इंशा अल्लाह यह स्रोत इतना बड़ा निकलेगा कि हमें आगे कोई तेल बाहर से नहीं खरीदना पड़ेगा।' लेकिन अब अंग्रेजी अखबार 'डॉन' की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पेट्रोलियम मामलों पर प्रधानमंत्री के विशेष सहायक नदीम बाबर ने कहा कि केकड़ा-1तेल उत्खनन क्षेत्र में खुदाई में कोई अपेक्षित सफलता हाथ नहीं लगी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि इस क्षेत्र में तेल उत्खनन कुएं का परिचालन करने वाली कंपनी ने काम बंद करने का फैसला किया है।

रिपोर्ट के अनुसार 17 बार की कोशिश के बावजूद सफलता नहीं मिली है। इस परियोजना में करीब 10 करोड़ डॉलर (भारतीय रुपये के हिसाब से 700 करोड़ रुपये और पाकिस्तान की मुद्रा के हिसाब से करीब 1500 करोड़ रुपये) खर्च किए जा चुके हैं। केकड़ा-1 में खुदाई का ताजा काम करीब चार माह पहले इतालवी कंपनी ईएनआई ने शुरू किया था।

इसमें अमेरिका की एक्सानमोबिल, पाकिस्तान पेट्रोलियम लिमिटेड और आयल ऐंड गैस डिवेलपमेंट कंपनी लिमिटेड की भी हिस्सेदारी है। पाकिस्तान में तेल गैस का पहला कुआं 1963 में अमेरिका की एक कंपनी ने खोदा था जो सूखा निकला। ताजा विफलता से पहले 2005 में नीदरलैंड की शेल कंपनी के प्रयास में भी कुछ नहीं निकला था।

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...