add image
add image

अब छिड़ी डिप्टी स्पीकर के लिए जंग! है किसका हक

news-details

लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद नयी सरकार बन गयी है, सरकार का कामकाज भी शुरू हो गया है. लेकिन अभी तक संसद का सदन नहीं  हुआ है. इसके लिए कर, डिप्टी स्पीकर के लिए चुनाव भी अभी बाकी है. ऐसे में  नंबर की  पार्टी  इसपर अपना अधिकार जमा रही है.सब अपना अपना दावा ठोक कर कह रहे हैं कि इस पद पर उनका हक़ है.

शिवसेना भी इस पद के लिए दावा ठोकने में पीछे नहीं हैट रही है. उनकी मांग है कि ये पद उनका हक है और उन्हें ही मिलना चाहिए.

शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने गुरुवार को डिप्टी स्पीकर पद के मुद्दे पर कहा कि हमारी ये डिमांड नहीं है, ये हमारा नेचरल क्लेम है और हक है. ये पद शिवसेना को ही मिलना चाहिए.

शिवसेना का बयान उस वक़्त सामने आया है जब यह खबरें हवाओं में उड़ रही थी कि यह पद BJD या फिर YSR कांग्रेस जैसी पार्टियों को भी मिल सकता है.

गौरतलब है कि अभी तक स्पीकर या डिप्टी स्पीकर का चुनाव नहीं हुआ है. खबरें हैं कि भारतीय जनता पार्टी की ओर से मेनका गांधी, एस.एस. अहलूवालिया जैसे वरिष्ठ सांसदों को लोकसभा अध्यक्ष के पद पर निर्वाचित किया जा सकता है.

19जून को लोसभा स्पीकर का चुनाव होगा और 17और 18जून को प्रोटेम स्पीकर की ओर से नवनिर्वाचित सांसदों को शपथ दिलाई जाएगी.

लोकसभा में कौन-सी पार्टियां हैं आगे?

भाजपा – 303,

कांग्रेस – 52,

डीएमके – 23,

YSR कांग्रेस – 22,

टिएमसी – 22,

शिवसेना – 18,

जेडीयू – 16,

बीजद - 12

डिप्टी स्पीकर पर किसका हक?

डिप्टी स्पीकर का चुनाव अक्सर विपक्षी पार्टियां ही करती हैं लेकिन पिछले साल मोदी सरकार ने इस परंपरा को भी बदला दिया था.मोदी सरकार कार्यकाल-1में डिप्टी स्पीकर का पद AIADMK के एम.थंबीदुरई के पास था. तब विपक्ष की ओर से आरोप लगाया गया था कि मोदी सरकार के प्रति AIADMK का रुख नरम है, इसी वजह से उन्हें ये पद दिया गया था.

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...