add image
add image

पितृ-पक्ष में इन पांच चीजों के बारें में जानना बेहद जरूरी...

news-details

श्राद्ध पक्ष का महीना शुरू हो गया है जो कि 13 सितंबर से 28 सितंबर तक रहेंगे. पितृपक्ष की पूजा 14 सितंबर को शुरू हो जाएगी. पितृ पक्ष की पूजा के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है. पितृपक्ष में काम आने वाली 5 चीजों को बहुत चमत्कारिक माना गया है. आइए, आज जानते हैं कि 5 पांच चीजों के बारें में....

कुश

लोग कुश को श्री हरि विष्णु के अंश से बना मानते है.

कुश के अंदर अमृत तत्व का वास माना जाता है.

 कुश से शिवजी का अभिषेक करने से तमाम तरह की बाधाएं दूर होती है.

और कुश से पितरों को मुक्ति प्राप्त होती है.

जल

जल मानव के लिए सबसे महत्वपूर्ण तत्व है. जल के बिना जीवन की कल्पना करना असंभव है. पितृ-पक्ष में पितरों को जल देना सबसे सर्वोतम माना गया है.

पितृ-पक्ष में सूर्योदय के पूर्व पीपल में जल डालने से पितरों को शांति मिलती है.

काले-तिल

काले-तिल को जल में डाल कर सूर्य को चढ़ाने से पितरों की आत्मा को शांति मिलती है. इससे आहुति देने से घर की नकारात्मकता भी दूर होती है. और काले तिल को संपन्नता का प्रतीक माना जाता है.

उरद की दाल

उरद की दाल पितरों को अर्पित करने से या उससे बनी चींजे खाने से प्रधानता होती है. अगर किसी के देहांत की वजह से डर लगता हो तो शनिवार को पीपल के नीचे साबुत उरद रखकर, उस पर दही और सिंदूर का तिलक करना चाहिए. ऐसा करने से डर दूर हो जाता है.

अग्नि

अग्नि को सबसे पवित्र माना गया है. माना जाता है कि, अग्नि में आहुति देने से, सीधी देवताओं के पास पहुंचती है. नियमित रूप से अग्नि में सुगंध की पांच आहुति देने से पितरों को शांति मिलती है, और खुद को भी शांति मिलती है.

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...