add image
add image

ट्रंप के दावे का भारतीय विदेश मंत्रालय ने किया खंडन

news-details

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के अमेरिकी दौरे के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से हुई मुलाकात में ट्रंप ने ऐसा दवा किया था कि भारत ने भी कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता के लिए मदद मांगी थी. ट्रंप के इस दावे का भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार खंडन ने करते हुए साफ़ किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कभी भी कश्मीर मुद्दे को लेकर ट्रम्प से मदद नहीं मांगी है.

भारत का कहना है कि कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय बातचीत की जा सकती है. इतना ही नहीं मंत्रालय ने यह भी साफ़ किया है कि कश्मीर पर भारत का रुख पहले जैसा ही है और किसी तीसरी देश को दखल नहीं देने दिया जाएगा.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, "हमने अमेरिका के राष्ट्रपति की टिप्पणी देखी कि यदि भारत और पाकिस्तान कश्मीर के मुद्दे पर अनुरोध करते हैं तो वह मध्यस्थता के लिए तैयार हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से ऐसा कोई अनुरोध नहीं किया है. भारत अपने रुख पर अडिग है."

बता दे कि इमरान खान अभी अमेरकी दौरे पर है जहाँ 22 जुलाई सोमवार को उनकी मुलाकात डोनाल्ड ट्रम्प से वाइट हाउस में हुई थी.

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...