add image
add image

पायलट नहीं बन सका तो कार को हीं बना दिया 'हेलीकॉप्टर'

news-details

कहते हैं कि इंसान जब कुछ करने को ठान ले तो कुछ भी नामुमकीन नही होता हैं. कुछ ऐसा हीं कर दिखाया है बिहार के छपरा जिले के  23 वर्षीय युवक मिथिलेश ने. हालांकी उसके सपने पूरे तो नहीं हो पाये लेकिन उसने अपने जिद्द में कुछ ऐसा कर दिया की आज वो चर्चा में बना हुआ है. 
 
दरअसल मिथिलेश बचपन से हीं पायलट बनना चाहता था, लेकिन किसान परिवार से होने के कारण उसका ये सपना पूरा नहीं हो सका. जिसके बाद सात महीने की कठिन परिश्रम के बाद उसने अपनी कार में ही पंख लगाकर उसे हेलिकॉप्टर बना दिया. हेलिकॉप्टर के डिजाइन में तैयार किया गया यह कार इन दिनों आकर्षण का विषय बना हुआ है. हालांकी कार उड़ तो नहीं सकती लेकिन जब वह इसे लेकर सड़क पर निकलता है तो इसे देखने के लिए लोगों की भीड़ लग जाती है. 
 
 
छपरा जिले के बनियापुर प्रखंड के सरमी गांव के रहने वाले मिथिलेश कुमार प्रसाद ने बताया कि उसने पुरानी नैनो कार खरीदकर उसको 'हेलीकॉप्टर' बना दिया है. मिथिलेश प्रसाद और उनके भाई पेशे से पाइप फिटिंग का काम करते हैं. बचपन से हेलीकॉप्टर उड़ाने का सपना मन में पाल रहे मिथिलेश इंटर तक की पढ़ाई गांव के स्कूल से करने के बाद गुजरात में अपने भाइयों के साथ पाइप फिटिंग का काम करने करने लगे. वही पर काम करते हुए उसने करीब सात महीनें तक इसपर काम किया.
 
मिथिलेश अनुसार उसने एक पुरानी नैनो खरीदी और अपने घर में हीं उसकी बॉडी को हेलीकॉप्टर जैसा बनाकर उसमें मोटर लगा दी. साथ हीं पीछे के हिस्से को भी हेलीकॉप्टर की तरह बनाकर उसमे लाइट आदि लगा दी. जिसके बाद यह देखने में बिल्कुल हेलीकॉप्टर जैसा ही लगता है. मिथिलेश ने बताया कि इस कार को हेलीकॉप्टर का रूप देने में उसके सात लाख रुपये खर्च हो हुए. हेलीकॉप्टर रुपी इस कार को अब लोग शादी-ब्याह में दूल्हा-दुल्हन को बैठाने के लिए मांगते हैं.
 
बता दें कि इस हेलीकॉप्टर का इंटीरियर लोहे का बनाया गया है जबकि बाहरी हिस्से में एल्युमिनियम का इस्तेमाल किया गया है. साथ हीं मिथिलेश ने इसमें टेल रोटर, मुख्य रोटर ब्लेड, टेल बूम, रोटर मास्ट और कॉकपिट भी बनाया है. इसके अलावा इस हेलीकॉप्टर में ट्रिप लाइटें, आरजीबी रिमोट कंट्रोल लाइटें भी रोटार ब्लेड और टेल रोटार में लगाया गया है. 
 

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...