add image
add image

ग्लोबल ब्रैंड कंसल्टेंसी इंटरब्रैंड्स एनुअल रैंकिंग में फेसबुक टॉप टेन बेस्ट ब्रैंड्स की लिस्ट से बहार

news-details

फेसबुक दुनिया के टॉप दस बेस्ट ब्रैंड्स की लिस्ट से बाहर निकल गया है। प्राइवेसी स्कैंडल और लम्बी जांच प्रक्रियाओं के चलते फेसबुक ने दुनिया के दस सबसे वैल्युएबल ब्रैंड्स में अपना स्थान गवा दिया है। बेस्ट टॉप 100 ब्रैंड्स की ग्लोबल ब्रैंड कंसल्टेंसी इंटरब्रैंड्स एनुअल रैंकिंग में इस बार फेसबुक का स्थान 14 वां आया है। दो साल पहले इस सोशल नेटवर्किंग साइट का इस लिस्ट में आठवां स्थान आया था। 
 
टॉप  टेन की इस लिस्ट में एपल सबसे ऊपर रहा  है और उसके बाद गूगल और ऐमजॉन ब्रैंड हैं। इस सूची में आगे बढ़ते हुए चौथे स्थान पर माइक्रोसॉफ्ट है। इस लिस्ट में कोका-कोला ने पांचवां और सेमसंग ने छठा स्थान पाया है। सातवें स्थान पर टोयोटा कंपनी ने लिया है। इसके बाद मर्सडीज आठवें और मैकडोनाल्ड नौवें स्थान पर है टॉप टेन की इस लिस्ट में  दसवां स्थान  को डिज्नी मिला है।
 
गौरतलब है कि फेसबुक प्राइवेसी उल्लंघन को लेकर यूएस फेडरल ट्रेड कमिशन (FTC) के सामने सेटलमेंट के रूप में 5 बिलियन डॉलर के भुगतान के लिए तैयार हुआ है। स्वतंत्र रिचर्स फर्म Ponemon इंस्टीट्यूट द्वारा 2018 में किये गए एक सर्वे के मुताबिक, 87 मिलियन यूजर्स को प्रभावित करने वाले कैंब्रिज एनालिटिका डेटा स्कैंडल के बाद, यूजर्स का फेसबुक में विश्वास 66 प्रतिशत तक गिर गया है।
 
सर्वे के मुताबिक, केवल 28 प्रतिशत फेसबुक यूजर्स ही यह मानते हैं कि कंपनी प्राइवेसी को लेकर जिम्मेदार है। यह आंकड़ा पहले 79 प्रतिशत था। रिसर्च फर्म ने बताया, 'हमने पाया है कि लोग उनकी निजता के बारे में गहराई से सोच रहे हैं। लोग फेसबुक के प्राइवेसी उल्लंघन के मामलों के बारे में गंभीर हैं।'

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...