#लोकसभा चुनाव 2019
चुनावी फैक्ट्स
×

लोक सभा चुनाव 2019

add image
add image

क्या आप भी हप बात पर झूंझलाते हैं? कहीं आप हाइपरटेँशन के शिकार तो नहीं, जाने लक्षण और इलाज

news-details

भाग दौड़ भरी जिंदगी के चलते लोग तरह-तरह की बीमारियों के शिकार हो रहे हैं। जिनमें हाइपरटेंशन एक ऐसी बिमारी है जो लोगों के बीच बेहद कॉमन है. इससे आप कब ग्रसित हो गए आपक भी पता नहीं चलेगा. आपको बता दें, यह बिमारी लोगो में गलत खानपान के चलते व गलत आदतों के कारण होती है।

लोगों में हाइपरटेंशन के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए हर साल 17 मई को वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे मनाया जाता है। इस खास दिन पर लोगों को हाइपरटेंशन के प्रति जागरुक किया जाता है। साथ ही उन्हें बताया जाता है कि इस खतरनाक बीमारी से कैसे बचाव किया जा सकता है।

क्या है हाइपरटेंशन

हाइपरटेंशन एक ऐसी बीमारी है जिसमें धीरे-धीरे आपका हार्ट, किडनी व शरीर के दूसरे अंग काम करना बंद कर सकते हैं। हाइपरटेंशन एक साइलेंट किलर है। हाइपरटेंशन कई कारणों से होता है, जिनमें से कुछ कारण शारीरिक और कुछ मानसिक होते हैं। हाइपरटेंशन में रक्तचाप 140 के पार पहुंच जाता है।

वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे पहली बार साल 2005 में 14 मई को वर्ल्ड हाइपरटेंशन लीग द्वारा मनाया गया था। वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे 2019 की थीम “Know Your Numbers” रखी गई है। हाई ब्लड प्रेशर के प्रति लोगों को जागरुक करने का लक्ष्य है।

हाइपरटेंशन के कारण

देर रात को भोजन करना, स्मार्टफोन पर लंबे वक्त तक समय बिताना, शारीरिक व्यायाम ना करने के चलते हाइपरटेंशन की समस्या होने लगती है। इसके अलावा स्ट्रेस, गलत खानपान औक आधुनिक जीवनशैली के कारण हाइपरटेंशन हो सकते हैं।

हाइपरटेंशन के लक्षण

हाइपरटेंशन में चक्कर आना, धमनियों में रक्त का दबाव बढ़ जाना, सिर दर्द की शिकायत शुरू होती है। ये सब हाइपरटेंशन के लक्षण हैं। इसके अलावा बेचैनी, थकान, अनिंद्रा, आक्रोश आना शुरू हो जाता है। हाइपरटेंशन के कारण व्यक्ति शारीरिक एवं मानसिक रूप से परेशान हो जाता है।

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...