Surya Samachar
add image
add image

फरीद जकारिया बोले- 'भारत बना संरक्षणवाद का विश्व चैम्पियन, यह है खतरनाक रास्ता'

news-details

भारतीय अर्थव्यवस्था अभी सुस्ती में चल रह है. ऐसे में मौजूद स्थिति भारत को सरंक्षणवाद से दूर रखने की सलाह डे रहा है लेकिन अगर भारत इस सलाह को अनसुना करता है तो यह भारत के लिए खतरा हो सकता है. यह बात वैश्विक स्तर पर जाने-माने पत्रकार और अर्थव्यवस्था के जानकार फरीद जकारिया ने कही है.

फरीद जकारिया ने कहा, 'दावोस के एक कार्यक्रम के दौरान अमेरिका के राष्ट्रपति ने दुनिया को समझाया कि वे कैसे व्यापार, सीमित आव्रजन और नियंत्रित प्रौद्योगिकी को प्रबंधित करना चाहते थे. चीन अपनी तकनीक संरक्षित कर निश्चित सीमा में मुक्त व्यापार को मंजूरी देता है. और इसलिए हम खुलेपन की जगह मैनेज्ड तरीके से आगे बढ़ गए.'

फरीद जकारिया ने कहा कि सरंक्षणवाद भारतीय परिदृश्य में काम नहीं करता है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे अच्छी तरह से ढाला है. फरीद जकारिया ने कहा कि दो साल पहले नरेंद्र मोदी दावोस आए थे. अगर उनके भाषण पर गौर करें तो जाहिर होगा कि उन्होंने डोनाल्ड ट्रंप की आचोलना की थी. उनके भाषण से कई राष्ट्र अवाक रह गए थे. व्यापार डूब रहा है. हमें और अधिक मुक्त व्यापार की जरूरत है. लेकिन भारत अब संरक्षणवाद का विश्व चैम्पियन बन गया है.

आपको बता दें की हाल ही IMF की रिपोर्ट सामने आई थी जिसमें भारत कि जीडीपी को गिराकर 4.8 कर दिया गया है. IMF के अलावा कई और संस्थानों ने भारत की जीडीपी को गिरा दिया है और बताया है कि भारत की अर्थव्यवस्था में सुस्ती आ गयी है.

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...