add image
add image

नहीं थम रहा ऑटो सेक्टर में गिरावट का सिलसिला

news-details

ऑटो सेक्टर को अगस्त महीने ने भी भारी गिरावट का एक और झटका दिया है. तमाम कोशिशों के बावजूद भी ऑटो सेक्टर की बिक्री में आने वाली गिरावट का दौर जारी है. यह लगातार 10वां महीना था, जिसमें बिक्री के आंकड़े नीचे फिसल गए हैं. 
 
असल में, मांग में होने वाली गिरावट के कारण से देश के वाहन उद्योग को बीते 21 वर्षों में सबसे कम बिक्री का सामना करना पड़ रहा है और अगस्त 2019 में 1997-98 के बाद सबसे कम बिक्री देखने को मिली है. घरेलू बाजार में अगस्त में वाहनों की बिक्री में 23.55 प्रतिशत की भारी गिरावट दर्ज की गई. ऐसी गिरावट इससे पहले साल 2000 के दिसंबर में दर्ज की गयी थी, जब मांग में 21.81 प्रतिशत की गिरावट आई थी.
 
बीते 10 महीनों से ऑटो सेक्टर में मांग की कमी का सिलसिला जारी है, जिसकी सबसे भी वजह है GST की ऊंची रेट के साथ तरलता का संकट है. सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैनुफैक्चर्स (सियाम) द्वारा पेश किए गए आंकड़ों से साफ़ पता चलता है कि अगस्त महीने में वाहनों की बिक्री में 23.55 प्रतिशत की कमी हुई और सिर्फ 18,21,490 वाहनों की बिक्री हुई, जबकि पिछले वर्ष अगस्त महीने में कुल 23,82,436 वाहनों की बिक्री हुई थी. 
 
असल में, टाटा मोटर्स, हुंडई मोटर्स, TVS मोटर्स और मारुति सुजुकी जैसी बड़ी ऑटो कंपनियों की बिक्री अगस्त में घटी है. वाहन निर्माताओं के संगठन सियाम के अनुसार अगस्त में यात्री वाहनों की बिक्री पिछले साल के अगस्त महीने के मुकाबले में 31.57 प्रतिशत फिसल कर मात्र 1,96,524 यूनिट रह गई. जबकि अगस्त 2018 में कुल 2,87,198 वाहनों की बिक्री हुई थी.

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...