Surya Samachar
add image

गर्भपात करवाने पर फरीदाबाद के अस्पताल पर हुई कार्रवाई, बॉम्बे हाईकोर्ट ने की सख्त टिप्पणी

news-details

फरीदाबाद/मुंबई: हरियाणा एक ऐसा राज्य रहा है जहां गर्भपात की समस्या काफी समय से चली आ रही है। इस पर मनोहर लाल सरकार ने लगाम लगाने की कोशिश की है लेकिन फिर भी ऐसे कुछ मामले निकल कर सामने आ ही जाते हैं। अभी तजा मामला फरीदाबाद से सामने आया है।

अस्पताल में हुई गिरफ्तारी

हरियाणा के फरीदाबाद में एक निजी अस्पताल पर स्वास्थ्य विभाग ने छापेमारी की है। छापेमारी में डॉक्टर सहित 2 स्टाफ कर्मियों को गिरफ्तार किया है। यह लोग 15000 रूपये लेकर चोरी छिपे गर्भपात को अंजाम दे रहे थे।

गुप्त सुचना के आधार पर हुई कार्रवाई

उल्लेखनीय है कि अस्पताल की पहले शिकायतें विभाग के पास थी। विभाग ने अस्पताल पर नजर बनाये रखी और एक दिन मिली गुप्त सुचना के आधार पर अस्पताल पर छापा मार दिया। छापेमारी में डॉक्टर को स्वास्थ्य विभाग ने रेंज हाथों पकड़ लिया।

बॉम्बे हाईकोर्ट का फैसला

महिलाओं के गर्भपात पर हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला लिया है, बता दें देश का कानून महिलाओं के मामलों में हमेशा से ही अग्रसर रहा है। वही हाईकोर्ट का कहना महिलाओं की अजादी के साथ कोई समझौता नहीं होगा। हाईकोर्ट ने कहा है, कि गर्भावस्था को जारी रखना या नहीं रखना ये अधिकार पूरी तरह से महिला का है। हाईकोर्ट का कहना है, ये मामला उनकी जिदंगी से जुड़ा हुआ है, इसका फैसला स्वयं महिला करे तो अच्छा है।

महिलाओं के अधिकारों से समझौता नहीं

हाईकोर्ट ने कहा कि महिलाओं के अधिकारों से किसी तरह से समझौता नहीं किया जाना चाहिए. वो इस विषय में क्या करना चाहती है, ये मामला महिलाओं पर छोड देना चाहिए। इस वजह से बॉम्बे हाईकोर्ट ने महिला को गर्भपात की मंजूरी दे दी।

You can share this post!