add image
add image

दिल्ली हवाई अड्डे पर एक सुरक्षाकर्मी ने सुरक्षा जांच के नाम पर की बदसलूकी

news-details

विराली मोदी,जो रीढ़ की हड्डी में चोट के कारण खड़ी नहीं हो सकती व्हीलचेयर की सहायता से एक जगह से दूसरी जगह जाती हैं। हाल ही में जब वह दिल्ली से मुंबई जा रही थीं, कहती हैं कि उन्हें दिल्ली हवाई अड्डे पर एक सुरक्षाकर्मी ने सुरक्षा जांच के लिए व्हीलचेयर से खड़े होने के लिए कहा था, बावजूद इसके कि वह रीढ़ की हड्डी में चोट के कारण नहीं खड़ी हो सकती उनसे इस प्रकार का व्यवहार किया गया। वह 2006 में इस समस्या से पीड़ित हुई थी तभी से वह खड़े होने व चलने में असमर्थ हैं।

इस घटना से विराली मोदी काफी आहत हुई हैं और उन्होंने इसपर अपनी आवाज़ उठाई है। उन्होंने बताया कि मैंने CISF मुख्यालय को ईमेल भेजा है। मैंने इसकी शिकायत भी दर्ज की है । श्री कमांडर, दिल्ली ने मुझे फोन किया और माफी मांगी। लेकिन यह पर्याप्त नहीं है, कुछ और किया जाना चाहिए। उन्हें और प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए। उन्हें अधिक सशक्त होने की आवश्यकता है। मैं उनसे लिखित माफी चाहती हूँ।  ताकि भविष्य में इस प्रकार की घटना को दोहराया न जाये।

यह सच में काफी आहत करने वाली घटना है। इस तरह एक व्यक्ति जो किसी समस्या से जूझ रहा हो उसे इस तरह से मानसिक चोट पहुंचाना काफी शर्मनाक  है। इस पर उचित कार्रवाई करने की आवश्यकता है। मोदी सरकार जो दिव्यांगों और समस्या से पीड़ित लोगों को विशेष सहायता प्रदान करने व उनकी सुविधाओं का ख्याल रखने की भरपूर कोशिश करते हैं ऐसे में यह घटना उनके अच्छे कार्यों पर पानी फेरने जैसा है। प्रधानमंत्री मोदी ने ही विकलांग शब्द को बदल  दिव्यांग शब्द की सौगात दे कर पीड़ितों का मनोबल बढ़ाया था।

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...