add image
add image

इस CISF जवान ने दहेज न लेकर दिया समाज को सन्देश

news-details

राजस्थान : समाज में दहेज़ देने की ये वो प्रथा है जो कि कई बार वधु के परिवार की आर्थिक स्थति निचोड़ कर रख देती है। समय बदल रहा है लोग जागरूक हो रहे है पर साथ ही भारत में अभी भी कुछ ऐसे हिस्से है जहाँ ये प्रथा ज़ोर शोर से अभी भी चल रही है। राजस्थान के जयपुर से एक अनोखा व्याख्या सामने आया है जो कि हम सबके लिए एक सन्देश है। 
 
जयपुर के CISF जवान जीतेन्द्र सिंह की हाल ही में शादी हुई और जब द्वार पर उसके ससुर ने उसे 11 लाख रुपये के साथ थाल दिया तो जीतेन्द्र ने बड़े ही बढ़प्पन के साथ ये थाल वापिस कर दिया। दूल्हे का ये बढ़प्पन देख सभी लोग चौंक गए और वाहवाही करने लगे। उसके इस कदम की हर जगह तारीफ की जा रही है।
सीआईएसएफ जवान जितेंद्र सिंह चाहते हैं कि भारत में दहेज प्रथा को जड़ से खत्म किया जाए। जितेंद्र के पिता राजेंद्र सिंह बहू को आगे पढ़ाना चाहते हैं और अफसर बनाना चाहते हैं। बता दें, जितेंद्र की दुल्हन चंचल एलएलबी और एलएलएम ग्रेजुएट है और पीएचडी कर रही है। 
दूल्हे के पिता राजेंद्र सिंह ने कहा ''हमने टीके के 11 लाख रुपये लौटाकर अपने स्तर पर समाज की इस कुरीति को मिटाने के लिए एक छोटा सा प्रयास किया है. मेरी बहू, मेरी बेटी समान है। इसके गुण ही हमारे दहेज हैं। 
 
 
समाज में जीतेन्द्र सिंह और राजेंद्र सिंह जैसे सोच के लोगो की बेहद जरुरत है। जीतेन्द्र की शादी की फोटोज इंटरनेट पर लगातार वायरल हो रही है। 

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...