add image
add image

2030 तक दुनिया में होगा रोबोटराज !

news-details

आज की इस तकनीकी दुनिया में बढ़ती तकनीकी के जहाँ बहुत सारे फायदे हैं तो साथ ही साथ बहुत से नुकसान भी है. आने वाले दशक मे तकनीकी मे आने वाले परिवर्तन से अर्थव्यवस्था और मार्केट को पूरी तरह से बदल के रख देगा. जो इंसानों के लिए बहुत बड़ी समस्या बन सकती है.

ऑक्सफ़ोर्ड इकोनॉमिक्स की एक रिपोर्ट के अनुसार दुनिया मे बढ़ती तकनीकी से हो रहे विकास के कारण एक दिन ऐसा आयेगा जहाँ हमारे रोजमर्रा के काम-काज को भी करने के लिए आर्टिफिसियल इंटेलिजेंस से लैस रोबोट का प्रयोग होने लगेगा. सुनने में तो यह बहुत ही अच्छा लगता है. लेकिन इस तरह बढ़ती तकनीकी को लेके ऑक्सफ़ोर्ड ने इस रिपोर्ट में चिंता भी प्रकट की है.

ऑक्सफ़ोर्ड इकोनॉमिक्स का अनुमान है कि 2030 तक मौजूदा वृद्धि के पूर्वानुमान से रोबोट इंस्टॉलेशन को 30% तक बढ़ाने से वैश्विक जीडीपी या 5.3 ट्रिलियन डॉलर में उस वर्ष 5.3% की वृद्धि होगी. ऑटोमेशन की इस दुनिया में सबसे ज्यादा रोजगार खोने डर गरीब अशिक्षित श्रमिकों को होगा.

ट्रांसपोर्ट, न्युफेक्चरिंग यूनिट और कृषि उद्योग में भारी संख्या मे श्रमिक काम करते हैं. रोबोटाईजेसन के इस प्रक्रिया से श्रमिको के रोजगार पे जरुर पड़ेगा. रोबोटाईजेसन की वजह से कई क्षेत्रों मे काम करने वाले लोगों की नौकरियां खतरे मे आयेंगी.

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...