add image
add image

राहुल ने पर्यावरण के गिरते स्तर को राजनीतिक मुद्दा बनाने का आह्वान किया

news-details

विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पर्यावरण के गिरते स्तर पर चिंता जाहिर की और इसे राजनीतिक मुद्दा बनाने का आह्वान किया जिससे इसे वह महत्व मिले जिसका वह हकदार है।

उन्होंने फेसबुक पर कहा कि पर्यावरण के गिरते स्तर और सरकार के युद्धस्तर पर इसका समाधान तलाशने की “अनिच्छा” के सीधे परिणाम की वजह से लाखों भारतीय परेशान हो रहे हैं यहां तक की जान भी गंवा रहे हैं।

गांधी ने कहा, “जब तक हम पर्यावरण के मुद्दे को राजनीतिक मुद्दा नहीं बनाएंगे, उन्हें वो महत्व नहीं मिलेगा जिसके वे हकदार हैं। इस विश्व पर्यावरण दिवस पर, आइए साथ मिलकर ऐसा करने के लिये प्रतिबद्धता व्यक्त करें।”

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मानव जाति के लिए खतरे की घंटी बज रही है और अगर पर्यावरण के गिरते स्तर में अब सुधार नहीं किया गया तो फिर इसके दुष्परिणामों को टाला नहीं जा सकता।

गांधी ने कहा कि अब इस बात के पर्याप्त वैज्ञानिक साक्ष्य हैं कि खास तौर पर बीते 100सालों में पर्यावरण के स्तर पर बेहद नुकसान हुआ है जिसे अब पलटा नहीं जा सकता।

उन्होंने कहा, “ग्लोबल वार्मिंग मिथक नहीं है। यह एक हकीकत है। भारत के प्रदूषित शहर जहां नागरिक सांस लेने के लिये संघर्ष करते हैं, मिथक नहीं हैं, वे भी हकीकत हैं। जैसे कि हमारी नदियां और जल निकाय प्रदूषित हैं और भू-जल का गिरता स्तर व कम होता वन क्षेत्र भी हकीकत है।”

उन्होंने ट्विटर पर भी ऐसा ही संदेश पोस्ट किया।

                 भाषा

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...