add image
add image

मंत्री जी का कहना - बड़ा नेता बनना है तो कलेक्टर और एसपी को उनके कॉलर से पकड़ लो

news-details

छत्तीसगढ़ के आबकारी और उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने छात्रों को बड़ा राजनीतिज्ञ बनने के लिए ऐसा सुझाव दिया है जो बहुत ही शर्मनाक है। मंत्री कवासी लखमा कहते हैं, "एक छात्र ने मुझसे पूछा, आप एक बड़े नेता बन गए हैं। आपने यह कैसे किया? मुझे क्या करना चाहिए? मैंने उनसे कहा कि कलेक्टर और एसपी को उनके कॉलर से पकड़ लो, फिर तुम नेता बन जाओगे।" 
एक समारोह में किसी बच्‍चे ने पूछा कि बड़ा नेता कैसे बना जाए? इस पर लखमा ने बच्चों से कहा कि यदि बड़ा नेता बनना है तो एसपी और कलेक्टर की कॉलर पकड़ो। मंत्री के इस वक्तव्य का एक वीडियो सामने आया है। बताया जा रहा है कि वीडियो सुकमा जिले के पवनार के एक स्कूल में शिक्षक दिवस पर शूट किया गया था, जो सोमवार को सामने आया। जैसे ही मंत्री ने यह बात कही उनके साथ बैठे छात्र और मौजूद लोग हंसने लगे। 
जब उनसे इस बाबत पूछा गया तो उन्होंने कहा , "मैंने बच्चों से पूछा था कि वे क्या बनना चाहते हैं? कुछ बच्चों ने कहा कि वे नेता बनना चाहते हैं और मुझसे पूछा कि इसके लिए क्या करना चाहिए ? तब मैंने उनसे कहा था कि अगर वे नेता बनना चाहते हैं, तो जनता की सेवा करें उनके लिए कलेक्टर कार्यालयों में लड़ें। जबकि मीडिया ने  मेरे बयान को गलत करार दिया है।"
वह अपनी सफाई में कुछ भी कहें परन्तु  इस तरह के बयान उनकी मानसिकता को दर्शाती है, वैसे यह कोई पहला मामला नहीं भारत में ऐसे नेताओं की कमी नहीं जो शिक्षा के आभाव में ऐसी ऊट-पटांग बातें करते हैं। 
लखमा सुकमा जिले की कोंटा सीट से पांच बार से विधायक चुने जा रहे हैं। वह कई दफा विवादास्पद बयान दे चुके हैं। इससे पहले  लोकसभा चुनाव के दौरान उन्होंने एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि "ईवीएम के दूसरे बटन को दबाने पर मतदाताओं को बिजली का झटका लगेगा।" 
 
सन 2013 में जब नक्सलियों ने झीरम घाटी में कांग्रेस नेताओं के काफिले पर हमला किया था, तब छत्तीसगढ़ कांग्रेस के लगभग पूरे शीर्ष नेतृत्व को मार दिया गया था, लेकिन लखमा वहां से जीवित बचे थे। बाद में इस मामले को लेकर उनसे पूछताछ भी की गई थी। लेकिन सबूतों के अभाव में जांच एजेंसी ने उनका नाम हटा दिया था।
 

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...