add image
add image

#VikramSarabhai: कलाम को मिसाइल मैन बनाने वाले विक्रम भाई साराभाई की आज 100वीं जयंती, गूगल ने बनाया डूडल

news-details

आज गूगल ने डूडल बनाकर भारतीय वैज्ञानिक विक्रम भाई साराभाई को समर्पित किया है. आज विक्रम भाई साराभाई की 100वीं जयंती है. भारत ने अंतरिक्ष विज्ञान में इतनी तरक्की करके बड़े-बड़े अभियानों में जो सफलता प्राप्त की है उन सबका श्रेय केवल महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई को जाता है.

विक्रम अंबालाल साराभाई का जन्म 12 अगस्त 1919 को हुआ था. - के प्रमुख वैज्ञानिक थे। इन्होंने ८६ वैज्ञानिक शोध पत्र लिखे एवं 40 संस्थान खोले. इनको विज्ञान एवं अभियांत्रिकी के क्षेत्र में सन 1966 में भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था.

डॉ॰ विक्रम साराभाई के नाम को भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम से अलग नहीं किया जा सकता। यह जगप्रसिद्ध है कि वह विक्रम साराभाई ही थे जिन्होंने अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में भारत को अंतर्राष्ट्रीय मानचित्र पर स्थान दिलाया. लेकिन इसके साथ-साथ उन्होंने अन्य क्षेत्रों जैसे वस्त्र, भेषज, आणविक ऊर्जा, इलेक्ट्रानिक्स और अन्य अनेक क्षेत्रों में भी बराबर का योगदान किया.

ये हैं विक्रम साराभाई के द्वारा स्थापित किए हुए संस्थान

- भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला (पीआरएल), अहमदाबाद

- इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट (आईआईएम), अहमदाबाद

- कम्यूनिटी साइंस सेंटर, अहमदाबाद

- दर्पण अकाडेमी फ़ॉर परफार्मिंग आर्ट्स, अहमदाबाद

- विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र, तिरुवनंतपुरम

- स्पेस एप्लीकेशन सेंटर, अहमदाबाद

- फास्ट ब्रीडर टेस्ट रिएक्टर (एफबीटीआर), कल्पकम

- वेरिएबल एनर्जी साइक्लोट्रॉन प्रॉजेक्ट, कोलकाता

-  इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड(ईसीआईएल), हैदराबाद

-  यूरेनियम कारपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (यूसीआईएल), जादूगुडा, बिहार

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...