add image
add image

नवजात शिशुओं के शव के साथ मेले में तमाशा

news-details

झारखंड की राजधानी में रांची में चल रहे ऐतिहासिक जगन्नाथपुर मेले से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। दरअसल इस मेले मे नवजात शिशुओं के शवों के साथ तमाशा दिखाया जा रहा था। अविकसीत नवजात शिशुओं के शवों के केमिकल के साथ बोतलों और टबों में रखकर हैरत में डालने वाले तमाशे पुरे दिन दिखाया जा रहा था। हैरानी की बात यह है की तमाशे के इस स्टॉल से 50 मीटर की दुरी पर ही मेला पुलिस का ओपी बनाया गया है।

मेले में चल रहे इस तमाशे को देखने के लिए लोगों की भीड़ पूरे दिन जुटते रही। बुधवार को जब इस तमाशे की तस्वीरें वायरल हुई, तब पुलिस के अधिकारियों के इसके बारे में पता चला। मेले में हो रहे इस तरह के अमानवीय तमाशे के बारे में जब पुलिस को पता चला तो तमाशा दिखाने वाले तीन आरोपियों वकील माइटी, पिंटु माइटी और प्रभात सिंह को गिरफ्ताप कर लिया। पूछताछ करने पर पता चला की तीनों आरोपि कोलकात्ता के सोरे बाजार के रहने वालें हैं। कोलकात्ता के हीं मेडिकल कॉलेज से उन्होने नवजात शिशुओं के शवों को लाया था।

साथ ही उन्होने यह भी बताया की मेले मे तमाशा दिखाने के लिए मेला समिति को उनलोगों ने 10,000 हजार रुपये भी दिये हैं। मेला समिति के कोषाध्यक्ष लाल प्रवीर नाथ शाहदेव से जब इस बारे में पुछा गया तो उन्होने कहा की वहाँ स्टॉल लगाने के लिए मेला समिति ने अनुमति नहीं दी थी।

इस घटना के बारे में हटिया डीएसपी प्रभात रंजन बरवार ने कहा की,”इस तरह के अमानवीय हरकतें मेले में बर्दास्त नहीं की जायेंगी इसके खिलाफ सख्त कारवाई की जायागी। नवजात शिशुओं के शव कहाँ से लाये गयें है इसके बारे में पता लगाया जा रहा है।  ”

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...