add image
add image

अखिलेश यादव का रामपुर दौरा रद्द धारा 144 लागू

news-details

पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने अपने रामपुर दौरे को रद्द कर दिया है। उन्होंने लखनऊ में आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में इस दौरे को रद्द करने के बाबत बताया व साथ ही वर्तमान यूपी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा प्रशासन सरकार के दबाव में लोगों पर झूठे मुक़दमे दर्ज कर रही है। उन्होंने यह भी  कहा कि भाजपा और कांग्रेस एक जैसी पार्टी है। 
दरअसल अखिलेश यादव ने पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं सांसद आज़म खान के परिवार से मिलने के लिए रामपुर का दौरा 9 सितम्बर को बनाया था। पर रामपुर में मुहर्रम के कारण धारा 144 लगा होने के कारण जिला प्रशासन ने इस दौरे की इजाज़त नहीं दी। अतः उन्होंने दौरा रद्द कर के कहा चूंकि मुहर्रम और 'गणेश विसर्जन' है, इसलिए मैं अपने कार्यक्रम में 2 दिन की देरी कर रहा हूं। मैं 13 और 14 सितंबर को रामपुर के अपने अगले कार्यक्रम को जिला प्रशासन को भेजूंगा और अपने आंदोलन का विवरण भी दूंगा। 
चूँकि अखिलेश यादव का यह दौरा आज़म खान के परिवार से मिलने का था इसलिए उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष और बरेली जोन के प्रभारी फैसल खान लाला ने राज्यपाल और मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कहा कि अखिलेश यादव की रामपुर यात्रा एक साजिश है और आज़म खान की राजनीति का हिस्सा है ,जो पूरी तरह से सांप्रदायिक है। यह वहां के माहौल को बिगाड़ने का कारण बन सकती है। 
आज़म ख़ान पर मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय के निर्माण के लिए ग़रीब किसानों से कथित तौर पर ज़मीन हड़पने के 27 मामलों में से कई आरोप हैं। इसके अलावा, पुस्तक चोरी के एक मामले में जांच में विश्वविद्यालय में मदरसे से चुराई गई सैकड़ों किताबें मिली हैं।
इसी बाबत 3 सितंबर को, मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार अनावश्यक रूप से आज़म खान को निशाना बना रही है, "उन्होंने हमेशा गरीब लोगों के लिए लड़ाई लड़ी है और अब एक राष्ट्रीय स्तर के नेता हैं। आजम एक ऐसे व्यक्ति हैं जो  किसी का भी एक पैसा नहीं ले सकते।"

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...