add image
add image

सास के साथ संबंध मजबूत बनाने के लिए रखे इन बातों का ख्याल

news-details

भारतीय समाज में शादी दो इंसानों की नहीं बल्कि दो परिवारों की होती है। ऐसे में लड़की के सामने अपने पति के घर वालों के साथ सामंजस्य बिठाना भी जरूरी है। इस कोशिश में सबसे कठिन माना जाता है सास से तालमेल। हालांकि समझदारी और प्रेम से हेंडल करें तो यह परेशानी भरा काम आसान हो सकता है।

ऐसे बनाएं सास से मजबूत रिश्ता

तारीफ करने दें

अगर आपकी सास अपनी तारीफ करने का कोई मौका नहीं छोड़ती या फिर आपके पति मां के हाथ के बने साधारण से खाने की भी तारीफ करते हैं तो नाराज न हों। कुछ भी कहिए आखिर वो आपके पति की मां हैं और मां के हाथ से बने खाने की बात ही कुछ और होती है। ये बात तो आप भी समझती होंगी।

काम को लेकर न करें बहस

आप घर की बहू हैं कोई मशीन नहीं कि सारे काम एकसाथ कर लेंगी। एक बार में उतने ही काम हाथ में लें जितने कर सकती हैं। जरूरत से ज्यादा काम की वजह सेतनाव, थकान और चिड़चिड़ापन होगा। इसलिए जरूरी है कि हिम्मत कर स्पष्ट तौर पर अपनेकाम बता दें ताकि काम की वजह से झगड़ा न हो।

 अपना रवैया बदलें

क्या आपकी सास हर काम में कमियां गिनाती हैं। और ये आदत उनकी दिन पर दिन खत्म होनेकी बजाय बढ़ती जा रही है तो जरुरत है कि आप अपना रवैया बदल लें। हर काम में सफाई देनेया तकरार करने से अच्छा है कि चुप रहें। बेवजह की नोकझोंक से बचें। आपके रिप्लाय न देने से सास का व्यवहार भी बदल जाएगा। इस विषय में संयम सेकाम लें तो बेहतर होगा।

कम बात करें

आपको ऐसा लगता है कि ज्यादा बात करने से सास के साथ झगड़ेकी आशंका बन जाती है तो समझदारी इसी में है कि चुप रहें। आपकी चुप्पी उनको परेशान करेगी लेकिन उन्हें बहस करनेका कोई मौका न दें। वैसे भी ज्यादाॉ बात करने सेकुछ न कुछ गलत बोलनेकी आशंका ज्यादा होती है। ऐसा व्यवहार तकरार से बचाएगा।

बच्चों और दादी के बीच न पड़ें

अपने बच्चे और सास के बीच न पड़ें। क्योंकि दादी और पोता-पोती के बीच बहुत खास रिश्ता होता है। वो आपसे ज्यादा आपके बच्चों को प्यार करेंगी। इन बातों से आपको खुश होनी चाहिए। बच्चे अपने ग्रांड पैरेंट्स से बहुत कुछ सीखते भी हैं। वे उन्हें सही गलत की समझ भी हमेशा देते हैं।

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...