Surya Samachar
add image
add image

पुलवामा: जानिए शहीदों के परिवार से किये गए वादे

news-details

जम्मू कश्मीर में बीते साल हुए पुलवामा अटैक की आज पहली बरसी है. इस दर्दनाक हादसे को हुए पूरा एक साल बीत गया है. इस हादसे से पूरे  देश को अंदर तक झकझोर कर रख दिया था आपको बता दे कि इस दर्दनाक हादसे में शहीद हुए जवानों को लेकर सरकार ने काफ़ी बड़े बड़े वादे किये थे. आइये जानते है वह सभी वादे पूरे हुए या नहीं.

आपको बता दे कि उत्तर प्रदेश के महराजगंज स्थित फरेंदा क्षेत्र के हरपुर बेलहिया निवासी पंकज त्रिपाठी भी पुलवामा हमले में शहीद हुए थे. आपको बता दे कि पंकज त्रिपाठी सीआरपीएफ के चालक पद को संभाल रहे थे. दरसल इस दर्दनाक हादसे में पंकज त्रिपाठी शहीद हो गए थे. लेकिन वह अपने पीछे अपने बेटे प्रतिक को छोड़ गए थे. प्रतिक  जन्म 2016में हुआ था. इतना ही नहीं अपनी पति की शहादत के समय उनकी पत्नी गर्भवती थी. पंकज त्रिपाठी के शहीद होने के कुछ दिन बाद उनकी पत्नी ने बेटी को जन्म दिया.

विधायक ने नहीं किया अपना वादा पूरा

आपको बता दे कि पंकज की शहीद होने के बाद उनकी परिवार की मदद करने के लिए बहुत से निजी और सरकारी संगठन ने बोला था. इनमें कुछ लोगों ने अपना वादा पूरा किया और कुछ लोगों ने अपना वादा पूरा किया ही नहीं. आपको बता दे कि पंकज त्रिपाठी की शहादत के समय महराजगंज के नौतनवा विधानसभा से निर्दलीय विधायक अमन मणि त्रिपाठी ने शहीद के परिवार को अपना मकान बनवाने के लिए पांच लाख रुपये की. आर्थिक मदद देने का वादा किया था. लेकिन इस पूरे हादसे को आज एक साल बीत चूका है. लेकिन अभी तक इस विधायक ने अपना वादा पूरा नहीं किया है.

पत्नी को सरकारी नौकरी देने का वादा

शहीद पंकज त्रिपाठी की पत्नी रोहिणी को राज्य सरकार सरकारी नौकरी देने का भी वादा किया गया था. यह वादा सरकार ने पूरा भी किया आपको बता देलक्ष्मीपुर ब्लाक में कनिष्ठ सहायक पद पर कार्यभार संभाला. लेकिन घर से दूर होने के कारण रोहिणी ने प्रशासन को पत्र लिखा, और उसके बाद अपना स्थानांतरण फरेंदा ब्लॉक में करवा लिया. अभी वह फरेंदा ब्लॉक में सेवा दे रही हैं.

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...