add image
add image

शनि जयंति 2019: करें शनिदेव की पूजा, अकाल मृत्यू के शिकार होने से बचे रहेंगे

news-details

जिसके मनुष्य के उपर शनि का साढ़ेसाती या अढ़ैया चल रही हो उसके लिए आज का दिन बैहद खास होने वाला है  क्योंकि, आज यानि 03जून को भगवान शनि की जयंति मनाई जा रही है, यह पर्व प्रत्येक वर्ष ज्येष्ठ मास की अमावस्या को मनाई जाती है।

इस तिथि को शनिदेव जी का जन्म हुआ था। हिन्दू मान्यता के अनुसार, ऐसा माना जाता है कि इस दिन अगर हम विधि विधान से शनिदेव की पूजा-अर्चना करें तो शनिदेव जल्द प्रसन्न होंते हैं और अपने भक्तों को अकाल मृत्यू से बचाये रखते हैं.

 पूजा करने की विधि :

शनि जयंती के दिन सूर्यास्त के बाद शाम के समय स्नान करें और हरड़ का तेल शरीर पर लगाएं। इसके बाद पश्चिम दिशा में एक चौकी रखकर उस पर काला वस्त्र बिछाएं, श्याम रंग के नीले लाजवंती फूल और पीपल के पत्तों के बीच शनि यंत्र स्थापित करें।

इसके पश्चात सरसों के तेल का दीपक और धूप जलाएं। नैवेद्य चढ़ाने के लिए काले उड़द का हल्वा, काले तिल वाले लड्डू, अक्षत, गंगाजल, बिल्ब पत्र, काले रंग के फूल आदि रखें। चौकी के चारों ओर तिल के तेल से भरी कटोरियां रखें। इसमें काले तिल के दाने, एक सिक्का, एक पंचमुखी रूद्राक्ष डालें।

शनि मंत्रों का जाप, साधना आदि करने के बाद 7या 11शनिवार को इन कटोरियों में अपने चेहरे की छाया देखें। इसके बाद शनिदेव जी के स्मरण के साथ शनि के दान लेने वालों को ये चीजें दान कर दें।

इस प्रकार पूजा अर्चना करने से दुर्घटना, गंभीर रोग, अकाल मृत्यु, शास्त्रघात से शनिदेव जी मुक्त रखते हैं।

  • Tags
  • #

You can share this post!

Loading...