Surya Samachar
add image

Kanwar Pal Gurjar On Rahul Gandhi: ‘आप तपस्वी बनना चाहते हैं या पुजारी, देशहित में बताएं कोई आर्थिक सुझाव’

news-details

Kanwar Pal Gurjar On Rahul Gandhi: हरियाणा में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की यात्रा को लेकर शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर (Education Minister Kanwarpal Gurjar) ने सवाल उठाते हुए कहा कि वह तपस्वी बनना चाहते हैं या पुजारी। उन्होंने कहा कि यह यात्रा बिना किसी संदेश के रही अगर देशहित में कोई आर्थिक सुझाव है। तो वह बताएं उस पर विचार किया जा सकता है।

राहुल ने कोई संदेश नहीं छोड़ा- कंवरपाल गुर्जर

यमुनानगर में मीडिया से बातचीत करते हुए शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने कहा कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi Bharat Jodo Yatra) ने इतनी लंबी यात्रा की लेकिन इस यात्रा में कोई संदेश नहीं छोड़ा, वहीं हरियाणा में कांग्रेस की सरकार (Haryana Congress Government) के राहुल के दावे को लेकर उन्होंने कहा कि हर पार्टी इस तरह के दावे करती है राहुल की यात्रा में भीड़ भी रही क्योंकि सभी कांग्रेसी जन इस यात्रा में शामिल हुए। 

मनमोहन सरकार में पुरानी पेंशन बंद हुई

हरियाणा में पुरानी पेंशन बहाली (Haryana Old PensionResumed) की मांग को लेकर विभिन्न कर्मचारी संगठनों द्वारा आंदोलन किए जा रहे हैं। इसी को लेकर शिक्षा मंत्री ने कहा कि मनमोहन सिंह सरकार (Manmohan Singh Government) में पुरानी पेंशन बंद की गई थी। उसमें योजना आयोग (Yojna Ayog) के चेयरमैन ने इसकी सिफारिश की थी। अब आर्थिक मामलों के अधिकांश विशेषज्ञों का मानना है कि इसे लागू करना ठीक नहीं है। इसके आने वाले समय में भयंकर परिणाम होंगे।

‘20लाख तक के कार्य सरपंच की देखरेख में होंगे’

हरियाणा की ग्राम पंचायतों में 20 लाख रुपए तक के कार्य सरपंच के माध्यम से करवाने को लेकर सरपंचों के आंदोलन पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि अभी भी 20 लाख तक के कार्य सरपंच की देखरेख में ही होंगे। उन्होंने कहा कि सिर्फ बदलाव यही किया गया है कि इसके लिए टेंडर कॉल किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरपंच सही तरीके से काम करवाते हैं। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को लेकर वह जल्दी ही मुख्यमंत्री (CM Manohar Lal)  से भी बात करेंगे।

अध्यापक एक बड़ा वर्ग है- शिक्षा मंत्री

अध्यापकों से गैर शिक्षण कार्य किए जाने को लेकर उन्होंने कहा कि अध्यापक एक बड़ा वर्ग है कई बार सरकार को इस तरह के कार्य करवाने पड़ते हैं। लेकिन अब काफी कम संख्या में कार्य करवाए जाते हैं वहीं उन्होंने कहा कि समान नागरिक संहिता लागू होनी चाहिए।

You can share this post!